janwarta logo
Today's E-Paper
 
Contact Us | Privacy Policy | Follow us on
facebook twitter google plus
12 जुलाई 2020 Breaking News वाराणसी में कोरोना ने लिया विस्फोटक रूप,1 की मौत, मिले रिकॉर्ड मरीज  |  गाजीपुर कोरोना अपडेट: डीएम कार्यालय के कर्मी, सिपाही सहित सात मिले कोरोना पाजिटिव  |  देखिए वाराणसी के इन क्षेत्रों में आज मिले कोरोना के 60 मरीज  |  कुशीनगर में 17 कोरोना पॉजिटिव मिले  |  अमिताभ-अभिषेक के बाद एश्वर्या और अराध्या भी हुए कोरोना पॉजिटिव
 
ज्यादा पठित
पुरुष सैक्स के लिहाज से ज्यादा आकर्षक मानते हैं ऐसी महिलाओं को
'मस्तीजादे' में सनी लियोनी-तुषार करेंगे रोमांस!
महिला-पुरुष निर्वस्त्र पिटते रहे, पुलिस देखती रही
जम्मू के पुंछ सेक्टर में भारतीय सैनिकों पर नापाक हमला, 5 जवान शहीद
एजाज खान ने लगाया कॉमेडी नाइट्स विद कपिल पर गंभीर आरोप
तीन भाषाओं में रिलीज होगी रितिक-कट्रीना की 'बैंग बैंग'
मन्नत मांगने पर यहां घड़ी चढ़ाते हैं लोग
बेवफा और चालाक है सनी लियोन!
इस टीवी शो के जरिए अब छोटे पर्दे पर आग लगाएंगी सनी लियोन
विस चुनाव 2017 : सपा ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट
यूपी के 75 जिलों में से सिर्फ एक कस्बे में दिखेगा पूर्ण सूर्यग्रहण
20 जून 2020 18:19
लखनऊ।देश में इस वर्ष का पहला सूर्यग्रहण रविवार यानी कल दिन में लगेगा। 75 जिलों वाले प्रदेश के सिर्फ सहारनपुर के एक कस्बा बेहट के लोग ही पूर्ण सूर्यग्रहण यानी सूर्य को छल्ले के रूप में देख सकेंगे। आषाढ़ी अमावस्या भी 21 जून को ही है। इस दिन सूर्यग्रहण होने के कारण यह दिन और भी महत्वपूर्ण हो गया है। प्रदेश में सूर्य ग्रहण का काल करीब पौने चार घंटे का है।
सूर्य ग्रहण का सूतक 12 घंटे पहले अर्थात आज रात 10:27 बजे से प्रारम्भ हो जायेगा। इससे पहले ही सहारनपुर का बेहट कस्बा अचानक से वैज्ञानिकों में चर्चा का विषय बन गया है। यहां पर कल यानी सूर्यग्रहण के दौरान कुछ ऐसा होगा, जिससे यहां के लोग 360 वर्ष तक वंचित रहेंगे। प्रदेश में सहारनपुर का बेहट ही ऐसा क्षेत्र है जहां पर 21 जून को होने वाला वलयाकार सूर्यग्रहण पूरा दिखाई देगा। प्रदेश में छल्लेदार सूर्य सिर्फ सहारनपुर के बेहट में ही दिखाई देगा। सहारनपुर से जैसे-जैसे पूर्वी उत्तर प्रदेश और बुंदेलखंड की बढ़ेंगे सूर्य ग्रहण ग्रहण आंशिक होता जाएगा।
इसी रिंग ऑफ फायर के कारण ढेर सारे खगोल शास्त्री और वैज्ञानिक 21 जून को बेहट पहुंच रहे हैं। लखनऊ के इंदिरा गांधी नक्षत्रशाला में वैज्ञानिक अधिकारी सुमित श्रीवास्तव ने बताया कि जिस जगह पर पूरा वलयाकार सूर्यग्रहण या पूर्ण सूर्यग्रहण होता है। वहां दोबारा ऐसी खगोलीय घटना 360 वर्ष बाद ही होती है।
सूर्य ग्रहण के दौरान इसकी कटान सबसे ज्यादा पश्चिमी उत्तर प्रदेश में में दिखेगी और सबसे कम पूर्वी उत्तर प्रदेश में दिखेगा। लखनऊ में भी 84 प्रतिशत कटा हुआ सूर्य दिखेगा। यहां पर फायर ऑफ रिंग कहीं नहीं देखने को मिलेगी। लखनऊ में सूर्यग्रहण की शुरुआत सुबह 10:17 पर हो जाएगी जो दोपहर के 2:02 तक चलेगी। यानी प्रदेश में कुल 3 घंटे 45 मिनट सूर्य ग्रहण दिखाई देगा। लखनऊ में सूर्य का सबसे ज्यादा कटान दोपहर 12:11:15 से 12:12:02 तक कुल 47 सेकंड के लिए देखने को मिलेगा।
ग्रहण ने बढ़ाया आषाढ़ी अमावस्या का महत्व
हिंदू धर्म में आषाढ़ माह को बहुत महत्वपूर्ण माना गया है। इस माह में प्रमुख रूप से भगवान विष्णु की आराधना तो की ही जाती है, शाक्त उपासकों के लिए गुप्त नवरात्रि भी इसी माह आती है। इस माह की प्रत्येक तिथि का अपना महत्व है लेकिन माह की अमावस्या और पूॢणमा विशेषकर लाभप्रद मानी गई है। इस बार आषाढ़ी अमावस्या 21 जून रविवार को है। इस दिन सूर्यग्रहण होने के कारण यह दिन और भी महत्वपूर्ण हो गया है। खासकर पितृदोष, शनि दोष, कुंडली में मौजूद कालसर्प दोष के निवारण के लिए यह दिन बहुत महत्वपूर्ण है। इस दिन ग्रहण समाप्ति के बाद यदि विशेष उपाय करेंगे तो आपकी समस्याएं दूर होंगी। आषाढ़ कृष्ण अमावस्या 21 जून को खण्डग्रास सूर्य ग्रहण (चूड़ामणियोग) लगेगा जो भारत में भी दिखाई देगा।
अनजाने में यदि पितरों के प्रति कोई अपमान हो जाता है या उनके उत्तरकार्य ठीक से नहीं हो पाते हैं तो पितृ असंतुष्ट रह जाते हैं। ऐसे में उनके वंशजों के जीवन में अनेक प्रकार की परेशानियां आने लगती हैं, खासकर आॢथक संकट, रोजगार का संकट, रोग और संतान प्राप्ति में कठिनाई आदि आती है। पितृ दोष की शांति के लिए अमावस्या का दिन तय है क्योंकि अमावस्या पितरों की तिथि मानी गई है। इस दिन अतृप्त पितृ अपने परिजनों से कुछ पाने की आशा में पृथ्वी पर आते हैं। अमावस्या के दिन यदि पितरों के निमित्त तर्पण, पिंड दान, अन्न् दान, धूप आदि कर्म किए जाएं तो इससे पितृ प्रसन्न् होते हैं और परिवार में उनके आशीर्वाद से खुशहाली आती है। इस दिन भगवान शिव का दूध से अभिषेक करने और गरीबों को दूध पिलाने या खीर खिलाने से पितृ दोषों से मुक्ति मिलती है।
कालसर्प दोष शांति की पूजा
इस दिन कालसर्प दोष की शांति करें। अमावस्या का दिन कालसर्प दोष की शांति का सबसे अचूक दिन होता है। कालसर्प दोष निवारण के लिए सुबह स्नान के बाद चांदी से निॢमत नाग-नागिन की विधिवत पूजा करवाएं। सफेद पुष्प के साथ इसे बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें। कालसर्प दोष से राहत पाने का यह अचूक उपाय है। इस दिन 8 नारियल पर सिंदूर से नाग-नागिन का जोड़ा बनाकर दो-दो नारियल को मौली से बांधकर कालसर्प दोष वाले व्यक्ति के हाथ से जल में प्रवाहित करवाने से दोष की शांति होती है।
अमावस्या तिथि शनि दोष की शांति के लिए भी महत्वपूर्ण होती है। जिन लोगों को शनि की साढ़ेसाती या लघु ढैया चल रहा है (वर्तमान में धनु, मकर और कुंभ राशि पर शनि की साढ़ेसाती चल रही है और मिथुन और तुला राशि पर लघु ढैया चल रहा है।) वह लोग आषाढ़ी अमावस्या के दिन शनिदेव का तैलाभिषेक करें और भूखे प्राणियों को भोजन कराएं। गरीबों को मीठे चावल खिलाने से शनि दोष की शांति होती है।
आषाढ़ी अमावस्या पर आजमायें
अमावस्या के दिन सुबह स्नान आदि करने के बाद आटे की गोलियां बनाएं। किसी तालाब या नदी किनारे जाकर ये आटे की गोलियां मछलियों को खिला दें। इस उपाय से आपके जीवन की अनेक परेशानियों का अंत हो सकता है। इस दिन काली चींटियों को शकर मिला हुआ आटा खिलाएं। ऐसा करने से आपके पाप कर्मों का क्षय होगा और पुण्य-कर्म उदय होंगे। यही पुण्य कर्म आपकी मनोकामना पूॢत में सहायक होंगे। यदि आपकी नौकरी नहीं लग पा रही है तो अमावस्या के दिन एक नीबू को गंगाजल से धोकर सुबह अपने घर के मंदिर में रख दें। फिर रात के समय इसे सात बार अपने ऊपर से घड़ी की सुई की दिशा में घुमाकर इसके चार बराबर भाग कर लें और किसी चौराहे पर जाकर चारों दिशाओं में फेंक दे। वापस घर आ जाएं और मुड़कर पीछे न देखें।
अमावस्या को सायंकाल घर के ईशान कोण में पूजा वाले स्थान पर गाय के घी का दीपक लगाने से धन संबंधी परेशानियां दूर होती हैं। धन प्राप्ति का एक अचूक टोटका कई तांत्रिक ग्रंथों में बताया गया है। अमावस्या की रात्रि को पांच लाल फूल और पांच जलते हुए दीये बहती नदी में प्रवाहित करें। इससे धन प्राप्ति के प्रबल योग बनेंगे। आषाढ़ी अमावस्या के दिन रात में दस बजे के बाद एकांत में बैठकर दुर्गा सप्तशती का पाठ करने से शत्रुओं का नाश होता है, साहस में वृद्धि होती है।
 
AD

नववर्ष मंगलमय हो
happy new year
नववर्ष मंगलमय हो

 
ताज़ा खबर
वाराणसी में सोमवार से शाम 4 बजे तक ही खुलेंगे बाजार और ऑफिस
देखिए वाराणसी के इन क्षेत्रों में आज मिले कोरोना के 60 मरीज
गाजीपुर कोरोना अपडेट: डीएम कार्यालय के कर्मी, सिपाही सहित सात मिले कोरोना पाजिटिव
वाराणसी में कोरोना ने लिया विस्फोटक रूप,1 की मौत, मिले रिकॉर्ड मरीज
बेटे ने दो दोस्तों के साथ मिलकर की थी पिता हत्या
अनुपम खेर की मां दुलारी निकलीं कोरोना पॉजिटिव
सिद्धार्थनगर में आठ कोरोना संक्रमित
कुशीनगर में 17 कोरोना पॉजिटिव मिले
कार की टक्कर से बाइक सवार युवक की मौत, पत्नी गंभीर
बीएचयू के रिसर्च ग्रुप ने खोजा जीका वायरस के मस्तिष्क में पहुंचने का कारक
 
 
 फोटो गैलरी  और देखे
अंतर्राष्ट्रीय
International
अनुष्का, वरुण जैसे कलाकारों ने नागालैंड में कुत्ते के मांस के पर लगे प्रतिबंध पर दी प्रतिक्रिया
नवीन चित्र
Latest Pix
ऐश्वर्या राय बच्चन और आराध्या बच्चन की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव
मनोरंजन
Entertainment
शमा सिकंदर को लॉकडाउन में भा रहा है वर्चुअल फोटोशूट
खेल
Sports
डेविड वॉर्नर की 'ताकतवर' सिक्सर ने उन्हें जमीन पर 'गिराया'
वाराणसी और आसपास
VARANASI AUR AASPAS
कोरोना का कहर :वाराणसी में रविवार को लॉक डाउन के दूसरे दिन बाज़ारों और सादडों पर पसरा रहा सन्नाटा
Cartoon Economic panchayat election
 वीडियो गैलरी
महेंद्र कपूर के सदाबहार गीत यहाँ सुनें
video
बाबा सहगल की वापसी, आया नया वीडियो
video
पाक से हुआ वीडियो वायरल देखे क्या कहा
video
100 किलो के ट्रेन के डिब्बों को खींचती एसयूवी कार
video
इंडिपेंडेंस डे रेसुर्जेन्से का ट्रेलर
video