janwarta logo
Today's E-Paper
 
Contact Us | Privacy Policy | Follow us on
facebook twitter google plus
17 अक्तूबर 2021 Breaking News 70 साल की उम्र में महिला ने दिया बच्चे को जन्म,डॉक्टर ने कहा-ये चमत्कार से कम नहीं  |  जम्मू-कश्मीर में आतंक पर बड़ा प्रहार,लश्कर का खूंखार कमांडर उमर मुश्ताक ढेर  |  सीएम योगी ने गोरखपुर में लगाया जनता दरबार,300 से अधिक फरियादियों की सुनीं शिकायतें  |  17 साल की किशोरी से रेप केस में SP और BSP जिलाध्यक्ष समेत 3 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार  |  छत्तीसगढ़ के जशपुर में तेज रफ्तार कार ने भीड़ को रौंदा,एक की मौत,17 घायल
 
ज्यादा पठित
पुरुष सैक्स के लिहाज से ज्यादा आकर्षक मानते हैं ऐसी महिलाओं को
'मस्तीजादे' में सनी लियोनी-तुषार करेंगे रोमांस!
महिला-पुरुष निर्वस्त्र पिटते रहे, पुलिस देखती रही
जम्मू के पुंछ सेक्टर में भारतीय सैनिकों पर नापाक हमला, 5 जवान शहीद
एजाज खान ने लगाया कॉमेडी नाइट्स विद कपिल पर गंभीर आरोप
तीन भाषाओं में रिलीज होगी रितिक-कट्रीना की 'बैंग बैंग'
मन्नत मांगने पर यहां घड़ी चढ़ाते हैं लोग
बेवफा और चालाक है सनी लियोन!
इस टीवी शो के जरिए अब छोटे पर्दे पर आग लगाएंगी सनी लियोन
विस चुनाव 2017 : सपा ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट
काशी का वैभव आधुनिक स्वरूप के अस्तित्व में आ रहा है- मोदी
15 जुलाई 2021 23:09

वाराणसी में रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर के उद्घाटन के पश्चात उसका प्रतीक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेंट करते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
*जापान भारत के सबसे विश्‍वसनीय दोस्‍तों में एक है-प्रधानमंत्री

*महादेव के आशीर्वाद से काशीवासियों ने विकास की गंगा बहा दी है-नरेन्द्र मोदी

*हाईस्‍पीड रेल, कारीडोर जापान के सहयोग से न्‍यू इंडिया की ताकत बन रहे हैं-पीएम

*बनारस गीत संगीत और धर्म आध्‍यात्म विज्ञान का केंद्र है

*सुविधा मिले तो कला जगत के लोग बनारस को प्राथमिकता देंगे, रुद्राक्ष इन्‍हीें को साकार करेगा और केंद्र बनेगा

*काशी धर्म, आध्यात्म, साहित्य, कला और संगीत की पौराणिक और ऐतिहासिक पृष्ठभूमि से जुड़ा देश का बहुत महत्त्वपूर्ण क्षेत्र रहा है-मुख्यमंत्री

*रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर अंतरराष्ट्रीय सहयोग के लिए जाना जायेगा, एक अद्भुत केंद्र है-योगी आदित्यनाथ

वाराणसी(जनवार्ता)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का उदघाटन करने के पश्चात लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि लंबे समय बाद आपके बीच आने का मौका मिला है। बनारस का मिजाज ऐसा है कि अरसा भले लंबा हो जाए लेकिन शहर मौका मिलने पर एक साथ रस भरकर दे देता है। काशी ने बुलाया तो एक साथ विकास कार्यों की झड़ी लगा दी। महादेव के आशीर्वाद से काशीवासियों ने विकास की गंगा बहा दी है। सैकड़ों करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्‍यास हुआ है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि काशी का वैभव आधुनिक स्‍वरुप के अस्‍तित्‍व में आ रहा है। बाबा की नगरी थमती और रुकती नही है। स्‍वभाव को सिद्ध किया है। कोरोना में दुनिया ठहर गई तो काशी संयमित हुई अनुशासित हुई लेकिन स्रजन और विकास की धारा बहती रही। काशी के विकास के आयाम इंटरनेशनल सेंटर रुद्राक्ष आज इसी रचनात्‍मकता और गतिशीलता का परिणाम है। इसके लिए उन्होंने काशी के हर जन को बधाई दी। भारत के परम मित्र जापान और पीएम के साथ जापान के राजदूत को भी धन्‍यवाद दिया व जापान के पीएम का संदेश देखा और कहा कि उनकी वजह से काशीवासियों को यह उपहार मिला है। उन्होंने कहा कि तक जापान के तत्कालीन प्रधानमंत्री शिंजो आबे जी, जब वह पीएम के तौर पर काशी आए थे तो रुद्राक्ष के आइडिया पर लंबी चर्चा की। उन्‍होंने तुरंत अधिकारियों को निर्देश दिया और जापान के कल्‍चर पर परफेक्‍शन और प्‍लानिंग के साथ काम किया और आज भव्‍य इमारत काशी की शोभा बढ़ा रही है। भविष्‍य की संभावनाओं का स्रोत है। अपने पन पर जापान से ऐसे ही सांस्‍कृतिक संबंध की रूपरेखा खींची थी। विकास के साथ दोनों देशों के रिश्‍तों में मिठास का अध्‍याय लिखा जा रहा है। रुद्राक्ष के साथ ही गुजरात में भी जापान में जापानी गार्डन और एकाडमी का लोकार्पण हुआ था। वैसे ही जैन गार्डन भी दोनों देशों के बीच सुगंध फैला रहा है। जापान भारत के सबसे विश्‍वसनीय दोस्‍तों में एक है। पूरे क्षेत्र में नैचुरल पार्टनर में एक हैं। विकास और इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर में जापान हमारा साझेदार है। हाईस्‍पीड रेल, कारीडोर जापान के सहयोग से न्‍यू इंडिया की ताकत बन रहे हैं। हमारा विकास हमारे उल्‍लास के साथ जुड़ा होना चाहिए। विकास सर्वमुखी सबके लिए और सबको जोड़ने वाला होना चाहिए। प्रधानमंत्री ने बताया कि पुराणों में कहा गया है कि सबके हित के लिए सबके कल्‍याण के लिए आंसुओं से गिरा रुद्राक्ष है, उनकी अंश्रुबूंंद मानव प्रेम का प्रतीक है। रुद्राक्ष भी दुनिया को आपसी प्रेम कला संंस्‍कृति से जोड़ने का काम करेगा। काशी सबसे पुराना शहर है। सीर से सारनाथ ने सबकुछ संजोकर रखा है। ठुमरी दादरा ख्‍याल कजरी चैती जैसी बनारस की चर्चित विख्‍यात गायन शैलियां सारंगी पखावज शहनाई हो बनारस के रोम रोम से गीत संगीत कला झरती है। घाटों पर कलाएं विकसित हुईं। बनारस गीत संगीत और धर्म आध्‍यात्म विज्ञान का केंद्र है। कल्‍चरल इवेंट के लिए बनारस आइडियल लोकेशन है। लोग देश विदेश से आना चाहते हैं। सुविधा मिले तो कला जगत के लोग बनारस को प्राथमिकता देंगे। रुद्राक्ष इन्‍हीें को साकार करेगा और केंद्र बनेगा। बनारस में कवि सम्‍मेलन के फैन दुनिया में हैं। इस सेंटर में 1200 लोगों के बैठने की सुविधा है, पार्किंग और दिव्‍यांगों के लिए सुविधा है। हैंडीक्राफ्ट और शिल्‍प को पहचान मिल रही है। कारोबारी गतिविधि भी बढ़ रही है। इसका उपयोग बिजनेस में किया जा सकता है। काशी का पूरा क्षेत्र साक्षात शिव हैं। सारी विकास परियोजनाओं से काशी का श्रंगार हो रहा है तो बिना रुद्राक्ष के कैसे पूरा हो सकता था। अब रुद्राक्ष काशी ने धारण कर लिया है तो शोभा बढ़ेगी। इसका पूरा उपयोग करना है। सांस्‍कृतिक सौंदर्य प्रतिभा को इससे जोड़ना है। भारत जापान को भी इससे मजबूती मिलेगी। महादेव के आशीर्वाद से काशी की पहचान बनेगा यह केंद्र।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, जापान के राजदूत सुज़ुकी सतोशी, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल सहित अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि प्रदेशवासियों व विशेष कर वाराणसी के लोगों के लिए आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण है। 14 जुलाई, 2018 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भूमि पूजन कर जापान के सहयोग से इस अंतरराष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर रुद्राक्ष की आधारशिला रखी गयी थी। काशी धर्म, आध्यात्म, साहित्य, कला और संगीत की पौराणिक और ऐतिहासिक पृष्ठभूमि से जुड़ा देश का बहुत महत्त्वपूर्ण क्षेत्र रहा है। पर विद्वानों, कलाकारों, साहित्यकारों के लिए एक ऐसा मंच जहां से एक साथ इतने बड़े पैमाने पर अपनी कलाओं को एक साथ देश और दुनिया के सामने प्रस्तुत कर सकेंगे। दशकों से इसकी मांग थी। अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप इस कन्वेंशन सेंटर का आज प्रधानमंत्री के द्वारा उद्घाटन कर जनता को समर्पित किया गया। उन्होंने इस अवसर पर प्रधानमंत्री का ह्रदय से आभार व्यक्त करते हुए उनका अभिनंदन किया। 1200 क्षमता का यह अंतरराष्ट्रीय कंवेंशन सेंटर तीन वर्ष में बनकर तैयार हुआ। अंतरराष्ट्रीय सहयोग के लिए यह जाना जायेगा, एक अद्भुत केंद्र है। अनेक प्रकार के कार्यक्रमों का साक्षी बनने का अवसर काशीवासियों को प्राप्त होगा। जापान सरकार के द्वारा भारत और जापान के मैत्री के इस नये युग को तत्कालीन प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ प्रधानमंत्री ने प्रारम्भ किया था। यह हमें उस प्राचीन परम्परा की याद दिलाता है जब बौद्ध धर्म का पहला कदम जापान की धरती पर पड़ा था।
इससे पूर्व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अंगवस्त्रम भेट कर उनका स्वागत किया एवं रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का प्रतीक स्मृति चिन्ह स्वरूप भेट किया।
गौरतलब हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में जापान और भारत की दोस्ती के प्रतीक 186 करोड़ की लागत से तैयार सेंटर शिवलिंग के आकार में निर्मित रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर यह एक अद्वितीय कन्वेंशन सेंटर है जिसमें जापानी और भारतीय वास्तु शैलियों का संगम दिखता है। सेंटर में एक साथ 1200 लोगों के बैठने की व्यवस्था है। हॉल को लोगों की संख्या के अनुरूप 2 हिस्सों में विभाजित करने की व्यवस्था की गई है। कन्वेंशन सेंटर पूर्णत: वातुनुकुलित है। बड़े हॉल के अलावा 150 लोगों की क्षमता वाला एक मीटिंग हॉल है। इसके अतिरिक्त यहां एक वीआईपी कक्ष, चार ग्रीन रूम का निर्माण कराया गया है। दिव्यांग जनों की सुविधा की दृष्टि से पूरे परिसर को सुविधाजनक बनाया गया है। 
भारत-जापान की वर्षों से चली आ रही मैत्री के प्रतीक रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर की नींव 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने अपने वाराणसी दौरे के दौरान रखी थी। सेंटर को सांस्कृतिक व आधुनिक समागम के प्रमुख केंद्र के रूप में विकसित किया गया है। 186 करोड़ की लागत से तैयार सेंटर शिवलिंग के आकार में निर्मित है। खुद में एक अद्वितीय कन्वेंशन सेंटर है। जिसमें जापानी और भारतीय दोनों ही प्रकार की वास्तुशैलियों का संगम दिखता है। सेंटर के बाहरी हिस्से में 108 सांकेतिक रुद्राक्ष लगाए गए हैं, जो एल्युमिनियम के बने हैं। तीन एकड़ में तैयार कन्वेंशन सेंटर परिसर में जापानी शैली का गार्डन व लैंडस्केपिंग भी की गई है। पार्किंग सुविधा को सुलभ बनाने के आशय से बेसमेंट में 120 गाड़ियों के पार्किंग की व्यवस्था की गई है। सुरक्षा की दृष्टि से सेंटर में सीसीटीवी कैमरे भी लगे हैं। विद्युत आपूर्ति हेतु बिजली कनेक्शन के साथ-साथ सौर ऊर्जा का भी प्रबंध किया गया है।
इस अवसर पर उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, मंत्री अनिल राजभर, मंत्री डॉक्टर नीलकंठ तिवारी, मंत्री रविंद्र जायसवाल, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक डॉ अवधेश सिंह, सुनील ओझा, क्षेत्रीय अध्यक्ष महेश श्रीवास्तव, जिला अध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा, महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय सहित भारी संख्या में लोग उपस्थित रहे।
 
कोरोना
Covid

 
ताज़ा खबर
ससुरालवालों ने बताया-सड़क हादसे में हुई मौत,मायके पक्ष का आरोप-मेरी बेटी को पीट-पीटकर मार डाला
मलबे में दबकर 3 महीने की बच्ची की गई जान,2 बच्चे हुए घायल
खेत से निकली नाली को लेकर हुआ विवाद,देवर ने भाभी को फावड़े से काट डाला
70 साल की उम्र में महिला ने दिया बच्चे को जन्म,डॉक्टर ने कहा-ये चमत्कार से कम नहीं
रामलीला मंचन के दौरान दिल का दौरा पड़ने से कलाकार की मौत
17 साल की किशोरी से रेप केस में SP और BSP जिलाध्यक्ष समेत 3 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार
छत्तीसगढ़ के जशपुर में तेज रफ्तार कार ने भीड़ को रौंदा,एक की मौत,17 घायल
घर में घुसकर किशोरी और वृद्धा को पीटा
बेकाबू डंपर ने बाइक सवार छात्र को कुचला,मौत
रंजिशन दबंगों ने युवक को बेरहमी से पीटकर किया जख्मी
 
 
 फोटो गैलरी  और देखे
अंतर्राष्ट्रीय
International
अनुष्का, वरुण जैसे कलाकारों ने नागालैंड में कुत्ते के मांस के पर लगे प्रतिबंध पर दी प्रतिक्रिया
नवीन चित्र
Latest Pix
ऐश्वर्या राय बच्चन और आराध्या बच्चन की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव
मनोरंजन
Entertainment
शमा सिकंदर को लॉकडाउन में भा रहा है वर्चुअल फोटोशूट
खेल
Sports
डेविड वॉर्नर की 'ताकतवर' सिक्सर ने उन्हें जमीन पर 'गिराया'
वाराणसी और आसपास
VARANASI AUR AASPAS
काशी विद्यापीठ शताब्दी वर्ष महोत्सव में नृत्य करती छात्रा
Cartoon Economic panchayat election
 वीडियो गैलरी
महेंद्र कपूर के सदाबहार गीत यहाँ सुनें
video
बाबा सहगल की वापसी, आया नया वीडियो
video
पाक से हुआ वीडियो वायरल देखे क्या कहा
video
100 किलो के ट्रेन के डिब्बों को खींचती एसयूवी कार
video
इंडिपेंडेंस डे रेसुर्जेन्से का ट्रेलर
video