janwarta logo
Today's E-Paper
 
Contact Us | Privacy Policy | Follow us on
facebook twitter google plus
13 जुलाई 2020 Breaking News वाराणसी में कोरोना ने लिया विस्फोटक रूप,1 की मौत, मिले रिकॉर्ड मरीज  |  गाजीपुर कोरोना अपडेट: डीएम कार्यालय के कर्मी, सिपाही सहित सात मिले कोरोना पाजिटिव  |  देखिए वाराणसी के इन क्षेत्रों में आज मिले कोरोना के 60 मरीज  |  कुशीनगर में 17 कोरोना पॉजिटिव मिले  |  अमिताभ-अभिषेक के बाद एश्वर्या और अराध्या भी हुए कोरोना पॉजिटिव
 
ज्यादा पठित
पुरुष सैक्स के लिहाज से ज्यादा आकर्षक मानते हैं ऐसी महिलाओं को
'मस्तीजादे' में सनी लियोनी-तुषार करेंगे रोमांस!
महिला-पुरुष निर्वस्त्र पिटते रहे, पुलिस देखती रही
जम्मू के पुंछ सेक्टर में भारतीय सैनिकों पर नापाक हमला, 5 जवान शहीद
एजाज खान ने लगाया कॉमेडी नाइट्स विद कपिल पर गंभीर आरोप
तीन भाषाओं में रिलीज होगी रितिक-कट्रीना की 'बैंग बैंग'
मन्नत मांगने पर यहां घड़ी चढ़ाते हैं लोग
बेवफा और चालाक है सनी लियोन!
इस टीवी शो के जरिए अब छोटे पर्दे पर आग लगाएंगी सनी लियोन
विस चुनाव 2017 : सपा ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट
यूपीःवाराणसी में कर्मचारियों को वेतन नहीं देंगे उद्यमी
01 मई 2020 21:44

»मजदूर दिवस पर कर्मियों के लिए बुरी खबर: प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में उद्यमियों ने वेतन देने से खड़े किये हाथ



»वेतन नहीं मिलने से हजारों कर्मचारियों के समक्ष रोजी-रोटी का पैदा हुआ संकट


»आर्थिक मंदी को कारण बताते हुए मुख्यमंत्री को लिखा पत्र,कर्मचारियों के लिए न्यूनतम जीवन निर्वाह भत्ता जारी करने की मांग


(डा. राजकुमार सिंह) 

वाराणसी(जनवार्ता)। कोरोनावायरस के कारण लॉक डाउन के बाद आर्थिक मंदी ने असर दिखाना शुरू कर दिया है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में उद्यमियों ने कर्मचारियों को अप्रैल माह का वेतन देने में असमर्थता जतायी है। मजदूर दिवस के दिन उद्यमियों के मुख्यमंत्री को लिखे पत्र से वाराणसी के हजारों कामगारों के समक्ष रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया है।वह अपने भविष्य को लेकर भी चिंतित है। उद्यमियों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस आशय का पत्र  लिखकर राहत की मांग की है।

 

स्माल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि कर्मचारियों को अप्रैल माह का वेतन देने में वह असमर्थ हैं लिहाजा मुख्यमंत्री अपने स्तर से न्यूनतम जीवन निर्वाह भत्ता घोषित करें।साथ ही बिजली के बिल को उपभोग के अनुसार जारी कराने की भी मांग की है।