janwarta logo
Today's E-Paper
 
Contact Us | Follow us on
facebook twitter google plus Blogspot
17 जुलाई 2018 Breaking News
 
ज्यादा पठित
पुरुष सैक्स के लिहाज से ज्यादा आकर्षक मानते हैं ऐसी महिलाओं को
'मस्तीजादे' में सनी लियोनी-तुषार करेंगे रोमांस!
महिला-पुरुष निर्वस्त्र पिटते रहे, पुलिस देखती रही
जम्मू के पुंछ सेक्टर में भारतीय सैनिकों पर नापाक हमला, 5 जवान शहीद
एजाज खान ने लगाया कॉमेडी नाइट्स विद कपिल पर गंभीर आरोप
तीन भाषाओं में रिलीज होगी रितिक-कट्रीना की 'बैंग बैंग'
मन्नत मांगने पर यहां घड़ी चढ़ाते हैं लोग
बेवफा और चालाक है सनी लियोन!
इस टीवी शो के जरिए अब छोटे पर्दे पर आग लगाएंगी सनी लियोन
विस चुनाव 2017 : सपा ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट
दुर्मुख विनायक मंदिर पर प्रशासन ने जड़ा ताला:स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद बैठे उपवास पर
05 जुलाई 2018 17:25
Share
share on whatsapp
  वाराणसी(जनवार्ता)। काशी में मंदिरों को तोड़े जाने और पूजा पाठ से रोकने के विरुद्ध के देश के साहसिक संत स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने शंकराचार्य घाट पर उपवास प्रारंभ कर दिया है। ज्ञातव्य है कि इससे पूर्व देव विग्रहों और मंदिरों को तोड़ने के विरुद्ध आंदोलन शुरू किया गया था। जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के शिष्य प्रतिनिधि स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने मंदिर बचाओ आंदोलनम के अंतर्गत पदयात्रा,पंचक्रोशी यात्रा, महायज्ञ कर मंदिर बचाने हेतु लोगों को जागरुक करने का काम शुरू किया है। इसी क्रम में आज जब स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद दुर्मुख विनायक मंदिर में दर्शन पूजन को पहुंचे तो वहां प्रशासन का ताला लटका दिखा।संबंधित अधिकारियों से पूछने पर किसी ने भी पूजा करने की सहमति प्रदान नहीं की। इसके बाद उन्होंने वही ताले के सामने बैठकर पूजा अर्चना किया। पुनः शंकराचार्य घाट पर पहुंचकर प्रशासन के रवैए से दुखी होकर उन्होंने उपवास प्रारंभ कर दिया।स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने कहा कि मुगलों तथा अंग्रेजों के जमाने में भी हिंदुओं के साथ इतना अत्याचार नहीं हुआ। लोगों को पूजन अर्चन करने की छूट थी लेकिन वर्तमान सरकार के कार्यकाल में पूजन-अर्चन तक नहीं करने दिया जा रहा है। धार्मिक स्वतंत्रता समाप्त हो गई है।प्रशासन द्वारा श्री दुर्मुख विनायक मंदिर पर ताला जड़ जाने से वहां पूजन का कार्य अवरुद्ध हो गया है, प्रशासन के इस निर्णय से संत समाज तथा नागरिकों में रोष व्याप्त हो गया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अब हमें कोई उम्मीद नहीं है। स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर मामले में हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है।पत्र में उन्होंने लिखा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 जुलाई को वाराणसी आ रहे हैं ऐसे में मंदिरों को तोड़ने तथा पूजा पाठ से रोकने के मामले का स्थाई हल अवश्य निकलना चाहिए।उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कई बार वाराणसी आए लेकिन इस मामले में ठोस निर्णय न लेकर उन्होंने यह दर्शा दिया है कि वह हिंदू विरोधी है। उपवास पर स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद के साथ सर्वश्री किशन जायसवाल स्वामी त्रिभुवन दास ब्रह्मचारी ज्योतिर्मय आनंद सतपाल शर्मा विजय शर्मा कृष्णानंद पांडे राम सजीवन शुक्ला आदि साथ बैठे हैं।
 
 
ताज़ा खबर
अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के विकास को देखने रात में सड़क पर निकले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
आजमगढ़ में प्रधानमंत्री ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का किया शिलान्यास
वाराणसी का विकास :पीएम मोदी से अजय राय ने पूछे 6 सवाल
वाराणसी में पीएम मोदी 1000 करोड़ रुपए की परियोजना की सौगात देंगे: सीएम योगी
सीएम काशी में ,पीएम के कार्यक्रम का लिया जायजा
पॉलिथीन मुक्त काशी :कपड़े के झोले की ओर बढ़े बनारसवासी
पॉलिथीन मुक्त काशी :15 के बाद होगी कड़ी कार्रवाई
पॉलीथिन मुक्त बनारस अभियान में जुड़े मंदिर ,मस्जिद और गुरूद्वारे
दुर्मुख विनायक मंदिर पर प्रशासन ने जड़ा ताला:स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद बैठे उपवास पर
अगले वित्त वर्ष तक वित्तीय संकट से बाहर निकल आयेगा सहारा समूह
 
 
 फोटो गैलरी  और देखे
शोरूम से
From Showroom
नयी कावासाकी वेर्सिस एक्स 300
अंतर्राष्ट्रीय
International
अदाए ऐसी जो दीवाना बना दे
नवीन चित्र
Latest Pix
कुछ ना कहो. कुछ यही बया कर रही राहुल की यह तस्वीर
मनोरंजन
Entertainment
कार ऐसी की देख के मन कर जाये ड्राईवरिंग का
खेल
Sports
करतब देख छूटेंगे पसीने
VARANASI AUR AASPAS Cartoon Economic panchayat election
 वीडियो गैलरी
महेंद्र कपूर के सदाबहार गीत यहाँ सुनें
video
बाबा सहगल की वापसी, आया नया वीडियो
video
पाक से हुआ वीडियो वायरल देखे क्या कहा
video
100 किलो के ट्रेन के डिब्बों को खींचती एसयूवी कार
video
इंडिपेंडेंस डे रेसुर्जेन्से का ट्रेलर
video