janwarta logo
Today's E-Paper
 
Contact Us | Follow us on
facebook twitter google plus Blogspot
21 नवम्बर 2019 Breaking News
कार्तिक पूर्णिमा देवदीपावली
Kartik poornima/devdeepawali
काशी कार्तिक पूर्णिमा देवदीपावली

 
ज्यादा पठित
पुरुष सैक्स के लिहाज से ज्यादा आकर्षक मानते हैं ऐसी महिलाओं को
'मस्तीजादे' में सनी लियोनी-तुषार करेंगे रोमांस!
महिला-पुरुष निर्वस्त्र पिटते रहे, पुलिस देखती रही
जम्मू के पुंछ सेक्टर में भारतीय सैनिकों पर नापाक हमला, 5 जवान शहीद
एजाज खान ने लगाया कॉमेडी नाइट्स विद कपिल पर गंभीर आरोप
तीन भाषाओं में रिलीज होगी रितिक-कट्रीना की 'बैंग बैंग'
मन्नत मांगने पर यहां घड़ी चढ़ाते हैं लोग
बेवफा और चालाक है सनी लियोन!
इस टीवी शो के जरिए अब छोटे पर्दे पर आग लगाएंगी सनी लियोन
विस चुनाव 2017 : सपा ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट
भारत मनाएगा 70वां गणतंत्र दिवस, देखें इस त्योहार से जुड़ी खास बातें-
25 जनवरी 2019 19:43
Share
share on whatsapp
  नई दिल्ली। इस साल भारत अपना 70वां गणतंत्र दिवस मनाएगा। इस गणतंत्र दिवस के एक विषय का थीम गांधी जी पर भी आधारित होगा, क्योंकि इस वर्ष गांधी जी की 150वीं जयंती पूरी होने वाली है। इस त्योहार से जुड़ी और भी बहुत-सी ऐसी बातें हैं जो प्रत्येक व्यक्ति को जानकारी रखनी चाहिए। कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं को देखतें हैं- 



गणतंत्र दिवस-

स्वतंत्रता दिवस की बात तो समझ में आती है, क्योंकि इस दिन हमारा देश आजाद हुआ था। पर सवाल यह है कि हर साल 26 जनवरी को ‘गणतंत्र दिवस’ क्यों मनाते हैं? दरअसल, इस दिन ही हमारे देश को अपना संविधान मिला था। 26 जनवरी 1950 को सुबह 10 बजकर 18 मिनट पर भारत का संविधान लागू किया गया था। तब डॉ. भीमराव अंबेडकर के नेतृत्व में हमारे देश का एक संविधान लिखा गया था, जिसे लिखने में पूरे 2 साल 11 महीने और 18 दिन लगे थे। इसे लिखने के लिए संविधान सभा के 308 सदस्यों ने कड़ी मेहनत की थी। संविधान को लागू करने के लिए 26 जनवरी का दिन इसलिए चुना गया, क्योंकि 1930 में इसी दिन कांग्रेस के अधिवेशन में भारत को पूर्ण स्वराज की घोषणा की गई थी। 



कौन फहराता है झंडा-

जहां स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री देश का झंडा फहराते हैं, वहीं गणतंत्र दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति तिरंगा झंडा फहराते हैं। इसी तरह राज्यों में भी मुख्यमंत्री की बजाय राज्यपाल झंडा फहराते हैं। इस अवसर पर हर साल 21 तोपों की सलामी भी दी जाती है। राष्ट्रगान शुरू होते ही पहली सलामी और फिर 52 सेकंड बाद आखिरी सलामी दी जाती है। 



हर साल गणतंत्र दिवस के मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में दूसरे देश के प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति को आमंत्रित किया जाता है। पहले गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बने थे इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकणार। 



शुरुआत राष्ट्रगान से-


तुम्हें पता है कि इस राष्ट्रीय त्योहार की शुरुआत ‘जन-गण-मन’ गान से होती है? वहीं समारोह की समाप्ति में ‘सारे जहां से अच्छा’ और अु्रिी ह्र३ँ टी गीत बजाए जाते हैं। अु्रिी ह्र३ँ टी एक क्रिश्चियन गीत है, जो महात्मा गांधी को बहुत पसंद था, इसलिए इसे इस अवसर पर गाया जाता है। गणतंत्र दिवस समारोह को समय की पूरी पाबंदी के साथ मनाया जाता है। मतलब, यदि समारोह एक मिनट की देरी से शुरू होता है, तो एक मिनट की देर से खत्म भी होगा।



समापन प्रक्रिया-

अगर तुम्हें लगता है कि इस दिन राष्ट्रपति द्वारा झंडा फहराने और परेड व झांकियों आदि के समापन के साथ ही यह त्योहार खत्म हो जाता है, तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। गणतंत्र दिवस एक दिन का नहीं, बल्कि 29 जनवरी को ‘बीटिंग रिट्रीट’ सेरेमनी के साथ यह उत्सव समाप्त होता है। इस दिन विजय चौक पर भारतीय सेना, वायुसेना और नौसेना द्वारा एक परेड और विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।



संविधान-

सोचो, जिस संविधान को लिखने में दो साल से भी अधिक का समय लगा हो, वह कितना बड़ा होगा! और वास्तव में ऐसा है भी। अगर पूरी दुनिया की बात करें तो भारत का संविधान विश्व के किसी भी गणतांत्रिक देश का सबसे लंबा लिखित संविधान है। आज भी भारतीय संविधान की हाथ से लिखी मूल प्रतियां संसद भवन के पुस्तकालय में सुरक्षित रखी हुई हैं। भारतीय संविधान में अलग-अलग देशों के संविधानों की कुछ अच्छी बातों को भी शामिल किया गया, जिसमें जरूरत के हिसाब से समय-समय पर संशोधन किया गया।



परेड की शुरुआत कब हुई-

गणतंत्र दिवस का मुख्य आकर्षण परेड और झांकियां होती हैं, जिनमें विभिन्न राज्यों की प्रदर्शनी होती हैं, जो भारत की विविधता और सांस्कृतिक समृद्धि को दर्शाती हैं। लेकिन क्या तुम्हें पता है कि सबसे पहली गणतंत्र दिवस परेड कहां हुई थी? शायद तुम ‘राजपथ’ का नाम लो, पर वास्तव में 26 जनवरी, 1950 को पहली गणतंत्र दिवस परेड इर्विन स्टेडियम, जिसे तुम नेशनल स्टेडियम के नाम से जानते हो, में हुई थी। उसके बाद 1954 तक दिल्ली में गणतंत्र दिवस परेड इर्विन स्टेडियम के अलावा, किंग्सवे कैंप, लाल किला और रामलीला मैदान में आयोजित हुई। राजपथ पर तो पहली बार 1955 में इस परेड का आयोजन हुआ था, जो अब भी जारी है। यह परेड लगभग 8 कि.मी. की होती है, जिसकी शुरुआत रायसीना हिल से होती है। राजपथ, इंडिया गेट से होते हुए ये लाल किला पर समाप्त होती है। 



राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार-

‘राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार’ हर साल 16 साल से कम उम्र के बच्चों को उनके वीरतापूर्ण कार्य के लिए दिया जाता है। इस पुरस्कार की शुरुआत दो अक्तूबर 1957 को तब हुई थी, जब तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू एक कार्यक्रम के सिलसिले में रामलीला मैदान में थे। इस दौरान शॉर्ट सर्किट से टेंट में आग लगने वाली थी। तभी 14 वर्षीय हरीश चंद्र मेहरा नाम के एक स्काउट ने जलते टेंट को चाकू से काट कर अलग कर दिया, जिससे हजारों जानें बच गईं। तभी से भारत सरकार और इंडियन काउंसिल फॉर चाइल्ड वेलफेयर की ओर से हर साल चुनिंदा कुछ बहादुर बच्चों को यह पुरस्कार दिया जाता है। इस तरह पहला राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार हासिल करने वाला बहादुर बच्चा था हरीश चंद्र  मेहरा।  



इस 26 जनवरी 2019 रहेगा खास-


’इस साल भारत अपना 70वां गणतंत्र दिवस मनाएगा और इस बार 70वें गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि होंगे दक्षिण अफ्रीका के पांचवें तथा वर्तमान राष्ट्रपति माटामेला सिरिल रामाफोसा। अफ्रीकी राष्ट्रपति को आमंत्रित करने की एक मुख्य वजह यह भी है कि इस वर्ष भारत महात्मा गांधी यानी बापू की 150वीं जयंती भी मनाएगा। चूंकि महात्मा गांधी का दक्षिण अफ्रीका से काफी गहरा जुड़ाव रहा है, इसलिए इस अवसर पर अफ्रीकी राष्ट्रपति को आमंत्रित किया गया है। 



’इस बार गणतंत्र दिवस के अवसर पर 17 राज्य अपनी झांकियां निकालेंगे। इसके साथ ही प्रवासी भारतीय दिवस के प्रतिनिधि भी राजपथ में आयोजित होने वाले देश के 70वें गणतंत्र दिवस में हिस्सा लेंगे। ’परेड में ट-777 होवित्जर और ङ-9 वज्र जैसी स्व-चालित तोपें भी देख सकेंगे। इन दोनों तोपों को हाल ही में भारतीय सेना के तोपखाने में शामिल किया गया है। ’इस बार गणतंत्र दिवस की सबसे खास बात यह है कि इस  अवसर पर सेना की महिला सदस्यों द्वारा कई सारे कार्यक्रमों का नेतृत्व किया जाएगा। रोमांचक करतब दिखाने वाली ‘डेयरडेविल्स’ मोटरसाइकिल टीम में भी एक महिला अधिकारी शामिल होगी।





























#Latest_news _of _Varanasi_in_hindi #varanasi_top_news_in_hindi #Breaking_News_varanasi_in_hindi #varanasi_latest_news_in_hindi #Delhi_latest_news #Congress_latest_news #BJP_latest_news_in #PM_Modi_latest_news_in_hindi #Modi #CM_Yogi_latest_news_in_hindi #Yogi #Jdu_latest_news_in_hindi #RJD #Mumbai #lacknow news_in_hindi #Mahatma_gandhi #Sonia Gandhi_news_in_hindi #Rahul_gandhi_latest_news_in_hindi #latest Politics_news_in_hindi #latest_Crime_news_in_hindi #Entertainment #Sports_news #Bollywood _news_in_hindi #samachar_in_hindi #khabar #Rajaniti #apradh #rajnniti #वाराणसीताजाखबर #खबर #ब्रेकिंगन्यूज़ #लेटेस्ट #सुर्खियां #राजनीति #अपराध #काशी #बनारस #नईदिल्ली#समाचार #टुडे #टॉप #today_news_in_hindi #Top_news_in_hindi #UP #Uttar_Pradesh #उत्तरप्रदेश#hindi #हिंदी #इंडिया #India_news_in_hindi #यूपी
 
AD

दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं
Happy deepawali

 
ताज़ा खबर
काशी घाट-वाक् पर भी हुआ मिर्गी जन जागरण
काशी की गंगा जमुनी तहजीब मिसाल है
कौशल राज शर्मा अब होंगे वाराणसी के जिलाधिकारी, 25 आईएएस के तबादले,देखें पूरी लिस्ट
वाराणसी के एसएसपी का स्थानांतरण, प्रभाकर चौधरी अब संभालेंगे कार्यभार
धनतेरस के दिन लूट व हत्या,एसएसपी पर पथराव,घायल
गौरांग राठी नगर आयुक्त तथा मधुसूदन नागराज वाराणसी के सीडीओ होंगे
"भज विश्वनाथम्" है श्री काशी विश्वनाथ मंदिर की सचित्र गाथा
डीएल-आरसी नही तो भी तत्काल चालान नही काट सकती पुलिस,जाने नियम
वाराणसी:गंगा और वरुणा में बाढ़ की स्थिति सीएम ने लिया जायजा
वाराणसी:मुख्यमंत्री ने स्थलीय निरीक्षण कर निर्माणाधीन परियोजनाओं के प्रगति को देखा
 
 
 फोटो गैलरी  और देखे
अंतर्राष्ट्रीय
International
PM मोदी स्वागत समारोह में न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री श्री जॉन की का स्वागत करते हुए।
नवीन चित्र
Latest Pix
संस्कार ब्राह्मण महिला संगठन की ओर से तीज महोत्सव
मनोरंजन
Entertainment
100 करोड़ क्लब में शामिल हुई मलयालम फिल्म 'पुलीमुरुगन'
खेल
Sports
डेविड वॉर्नर की 'ताकतवर' सिक्सर ने उन्हें जमीन पर 'गिराया'
वाराणसी और आसपास
VARANASI AUR AASPAS
वाराणसी में गड्ढे या गड्ढे में बनारस
Cartoon Economic panchayat election
 वीडियो गैलरी
महेंद्र कपूर के सदाबहार गीत यहाँ सुनें
video
बाबा सहगल की वापसी, आया नया वीडियो
video
पाक से हुआ वीडियो वायरल देखे क्या कहा
video
100 किलो के ट्रेन के डिब्बों को खींचती एसयूवी कार
video
इंडिपेंडेंस डे रेसुर्जेन्से का ट्रेलर
video