janwarta logo
Today's E-Paper
 
Contact Us | Follow us on
facebook twitter google plus Blogspot
23 जनवरी 2019 Breaking News चुनाव आयोग ने सैयद शुजा पर दिल्ली पुलिस से एफआईआर दर्ज करने को कहा  |  १५वें प्रवासी भारतीय सम्मेलन में बोले प्रधानमंत्री- टेक्नालॉजी से देश में भ्रष्टाचार पर लगी रोक'  |  बाबा दरबार में मॉरीशस के पीएम ने टेका मत्था, देखी गंगा आरती  |  भारत अद्वितीय है, तो भारतीयता सार्वभौमिक:मॉरीशस के प्रधानमंत्री  |  प्रधानमंत्री के हाथों प्रमाण पत्र पाकर खिले चेहरे
 
ज्यादा पठित
पुरुष सैक्स के लिहाज से ज्यादा आकर्षक मानते हैं ऐसी महिलाओं को
'मस्तीजादे' में सनी लियोनी-तुषार करेंगे रोमांस!
महिला-पुरुष निर्वस्त्र पिटते रहे, पुलिस देखती रही
जम्मू के पुंछ सेक्टर में भारतीय सैनिकों पर नापाक हमला, 5 जवान शहीद
एजाज खान ने लगाया कॉमेडी नाइट्स विद कपिल पर गंभीर आरोप
तीन भाषाओं में रिलीज होगी रितिक-कट्रीना की 'बैंग बैंग'
मन्नत मांगने पर यहां घड़ी चढ़ाते हैं लोग
बेवफा और चालाक है सनी लियोन!
इस टीवी शो के जरिए अब छोटे पर्दे पर आग लगाएंगी सनी लियोन
विस चुनाव 2017 : सपा ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट
दहेज उत्पीड़न मामले में तुरंत होगी गिरफ्तारी : सुप्रीम कोर्ट
14 सितम्बर 2018 20:48
Share
share on whatsapp
  नयी दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने अपने एक महत्वपूर्ण फैसले में कहा है कि दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज होने के तुरंत बाद अब पीड़ित महिला के पति और उसके ससुरालियों की गिरफ्तारी की जा सकेगी।मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की खंडपीठ ने शुक्रवार को शीर्ष अदालत के ही पूर्व के फैसले में बड़ा बदलाव करते हुए परिजनों को मिलने वाली कानूनी सुरक्षा समाप्त कर दी।
दहेज उत्पीड़न मामले में तुरंत गिरफ्तारी पर रोक के खिलाफ दायर याचिकाओं पर अहम फैसला सुनाते हुए न्यायालय ने कहा कि पीड़ित की सुरक्षा के लिए ऐसा करना जरूरी है।
खंडपीठ ने कहा कि मामले की शिकायत की जांच के लिए परिवार कल्याण कमेटी की जरूरत नहीं है। पुलिस को यदि जरूरी लगता है तो वह आरोपी को तत्काल गिरफ्तार कर सकती है। आरोपियों के लिए अग्रिम जमानत का विकल्प खुला है। उच्चतम न्यायालय ने इसी साल अप्रैल में सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।
उल्लेखनीय है कि गत वर्ष 27 जुलाई को न्यायमूर्ति आदर्श कुमार गोयल एवं न्यायमूर्ति उदय उमेश ललित की खंडपीठ ने दहेज उत्पीड़न निरोधक कानून के दुरुपयोग की शिकायतों को देखते हुए ऐसे मामलों में पति या ससुराल वालों की तत्काल गिरफ़्तारी पर रोक लगा दी थी।
न्यायमूर्ति मिश्रा ने आज के अपने फैसले में कहा कि ऐसा लगता है कि 498ए के दायरे को हल्का करना महिला को इस कानून के तहत मिले अधिकार के खिलाफ जाता है और दो-सदस्यीय खंडपीठ के फैसले के जरिये दी गयी कानूनी सुरक्षा से वह सहमत नहीं हैं। तीन-सदस्यीय पीठ ने मामले में अधिवक्ता वी. शेखर को न्याय-मित्र बनाया था।
 
AD

 
ताज़ा खबर
१५वें प्रवासी भारतीय सम्मेलन में बोले प्रधानमंत्री- टेक्नालॉजी से देश में भ्रष्टाचार पर लगी रोक'
भारत अद्वितीय है, तो भारतीयता सार्वभौमिक:मॉरीशस के प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री के हाथों प्रमाण पत्र पाकर खिले चेहरे
बाबा दरबार में मॉरीशस के पीएम ने टेका मत्था, देखी गंगा आरती
स्वास्थ्य केन्द्रों पर ली गयी बेटी बचाओ – बेटी पढाओ की शपथ
चुनाव आयोग ने सैयद शुजा पर दिल्ली पुलिस से एफआईआर दर्ज करने को कहा
ईवीएम का क्या है मामला और अब तक क्या हुआ, देखें बिंदुवार-
जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में में तीन आतंकी ढेर
चिकित्सा क्षेत्र में सुधार की मांग को लेकर डॉ ओमशंकर का आमरण अनशन जारी
विदेशी मेहमानो ने गांवों में भ्रमण कर बनारसी साड़ी व मिट्टी से बने बर्तनों को परखा
 
 
 फोटो गैलरी  और देखे
अंतर्राष्ट्रीय
International
PM मोदी स्वागत समारोह में न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री श्री जॉन की का स्वागत करते हुए।
नवीन चित्र
Latest Pix
संस्कार ब्राह्मण महिला संगठन की ओर से तीज महोत्सव
मनोरंजन
Entertainment
100 करोड़ क्लब में शामिल हुई मलयालम फिल्म 'पुलीमुरुगन'
खेल
Sports
डेविड वॉर्नर की 'ताकतवर' सिक्सर ने उन्हें जमीन पर 'गिराया'
वाराणसी और आसपास
VARANASI AUR AASPAS
वाराणसी में गड्ढे या गड्ढे में बनारस
Cartoon Economic panchayat election
 वीडियो गैलरी
महेंद्र कपूर के सदाबहार गीत यहाँ सुनें
video
बाबा सहगल की वापसी, आया नया वीडियो
video
पाक से हुआ वीडियो वायरल देखे क्या कहा
video
100 किलो के ट्रेन के डिब्बों को खींचती एसयूवी कार
video
इंडिपेंडेंस डे रेसुर्जेन्से का ट्रेलर
video