janwarta logo
Today's E-Paper
 
Contact Us | Follow us on
facebook twitter google plus Blogspot
17 नवम्बर 2019 Breaking News काशी घाट-वाक् पर भी हुआ मिर्गी जन जागरण
कार्तिक पूर्णिमा देवदीपावली
Kartik poornima/devdeepawali
काशी कार्तिक पूर्णिमा देवदीपावली

 
ज्यादा पठित
पुरुष सैक्स के लिहाज से ज्यादा आकर्षक मानते हैं ऐसी महिलाओं को
'मस्तीजादे' में सनी लियोनी-तुषार करेंगे रोमांस!
महिला-पुरुष निर्वस्त्र पिटते रहे, पुलिस देखती रही
जम्मू के पुंछ सेक्टर में भारतीय सैनिकों पर नापाक हमला, 5 जवान शहीद
एजाज खान ने लगाया कॉमेडी नाइट्स विद कपिल पर गंभीर आरोप
तीन भाषाओं में रिलीज होगी रितिक-कट्रीना की 'बैंग बैंग'
मन्नत मांगने पर यहां घड़ी चढ़ाते हैं लोग
बेवफा और चालाक है सनी लियोन!
इस टीवी शो के जरिए अब छोटे पर्दे पर आग लगाएंगी सनी लियोन
विस चुनाव 2017 : सपा ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट
इस नागपंचमी में दिखा बेटियों का, कुश्ती, गदा और जोड़ी पर दमखम
05 अगस्त 2019 21:30
Share
share on whatsapp
  वाराणसी (जनवार्ता)। सैकड़ों वर्ष से अखाड़े पर जोड़ी एवं गदा फेरने का काम पुरुष पहलवान ही करते रहे हैं। मगर काशी में नागपंचमी पर इस वर्ष यह परंपरा भी टूट गई। सिगरा स्थित संपूर्णानंद स्टेडियम में सोमवार को नागपंचमी पर सुबह प्रदेश की महिला पहलवानों ने जोड़ी और गदा फेर कर अपना दम दिखाया तो मैदान भी तालियों की गड़गडाहट से गूंज उठा। काशी क्षेत्र में महिलाओं को अखाडों में अनुमति मिलने के बाद यह पहला मौका है जब पहलवानी के साथ बेटियों ने गदा और जोड़ी पर अपना दमखम दिखाया है। 



अखिल भारतीय कुश्ती संघ के संयुक्त सचिव संजय सिंह का कहना है कि दो वर्ष पहले चार सौ वर्ष से अधिक पुराने तुलसी घाट अखाड़े पर नागपंचमी के अवसर पर पहली बार महिला पहलवानों की कुश्ती हुई थी। उस कुश्ती की परंपरा को ही संघ की ओर से आगे बढ़ाने के लिए कुश्ती संघ यह आयोजन कर रहा है।